Spiritual

घर के मन्दिर में कभी न करें ये छः गलतियां, हो सकते हैं आप बर्बाद

हर घर में भगवान का मंदिर जरूर होता ही है. मंदिर चाहे छोटा हो या बड़ा लेकिन उसका वास्तु के अनुसार ही होना शुभ माना जाता है. घर के मंदिर से जुड़ी ऐसी कुछ बातें हैं, जिनका ध्यान रखना बहुत ही जरूरी होता है. वास्तु शास्त्र में बताई गई इन 6 बातों का ध्यान न रखने पर भगवान की कृपा घर-परिवार को नहीं मिल पाती.

 

इन छः बातों का रखें ध्यान
1-घर के मन्दिर के आस-पास बाथरूम नहीं होना चाहिए. साथ ही किचेन में बना मंदिर भी वास्तु के हिसाब से ठीक नहीं होता.
2-कभी भी एक ही घर में अलग अलग मंदिर नहीं बनवाना चाहिए. ऐसा करने से मानसिक शारीरिक और आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

 

3-मन्दिर कभी भी पश्चिम और दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए. ऐसी दिशा में मन्दिर की स्थापना से अशुभता आती है. मदिर हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए. इससे घर में सकरात्मक उर्जा का प्रभाव बना रहता है.
अगर चाहते हैं आर्थिक प्रगति तो भूलकर भी ना करें ये काम, “लक्ष्मी” हो सकती हैं नाराज

 

4-मन्दिर में मूर्तियों को कम से कम एक इंच की दूरी पर रखना चाहिए. साथ ही एक ही भगवान की मूर्ति को एक दूसरे के सामने नहीं रखनी चाहिए. ऐसा करने से तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है.

 
5-सीढ़ी के नीचे और तहखाने में कभी भी मन्दिर नहीं बनवाना चाहिए. ऐसा करने से परिवार के सदस्यों को पूजा का फल नहीं मिलता. सदस्यों को कई तरह की परेशानियां होती हैं.

 
6-ध्यान रहे सोते समय मन्दिर की ओर पैर रखकर नहीं सोना चाहिए.

Tags

Related Articles