General

मौत से पहले शरीर देता है ये संकेत, क्या जानना चाहेंगे इन्हें आप

श्रीकृष्ण ने गीता में कहा है कि जिसने भी जन्म लिया है, उसकी मृत्यु निश्चित है। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि वह कहां पैदा हुआ था, उसका रंग कैसा था, उसने क्या अच्छे या बुरे कर्म किए हैं।

 

आप कौन हैं, क्या करते हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है और जीवन का पहिया घूमता रहता है और मृत्यु के पथ पर व्यक्ति आगे बढ़ता रहता है। मगर, हिंदू धर्म में गुरुओं और ऋषियों ने मृत्यु के पहले के लक्षणों को ब्रह्मांड और कल्कि पुराण में पहले से ही लिख दिया था। जानते हैं वे कौन से लक्षण हैं…

 

 

यदि त्वचा का रंग पीले या सफेद या हल्का लाल हो रहा है, तो व्यक्ति की 6 महीने के भीतर मौत हो सकती है।
यदि किसी व्यक्ति के शरीर से लाश की तरह गंध आना शुरू होती है, तो 15 दिनों के भीतर वह मर सकता है।

 

अगर किसी आदमी का बाएं हाथ लगातार सात दिनों तक हिलाता रहता है, तो एक महीने में उसकी मौत हो सकती है।
यदि कोई व्यक्ति मूत्र करने के दौरान लगातार हिचकी आती हैं और बिना किसी वजह के वह चीजों का स्वाद या गंध महसूस नहीं कर पाता है, तो वह जल्दी मर सकता है।
यदि कोई व्यक्ति तेज आवाज को नहीं सुन पा रहा है, तो उसकी जल्दी मौत हो सकती है।

 

यदि जीभ मोटी हो रही है और दांतों में चिकना पदार्थ जमा होता दिख रहा है, तो वह छह महीने के भीतर मर सकता है।
यदि बिना किसी कारण के आंखों से अचानक आंसू निकलने लगें और सिर से भाप जैसी उठती दिखे, तो वह दिन के ढ़लने तक मर सकता है।

Related Articles